Sunday, February 10, 2019

Akhilesh Yadav का ये कदम बना Mayawati के गले की हड्डी

Lok Sabha चुनाव सिर पर हैं। सियासी दल तैयारियों में जोरशोर से जुट गए हैं। Uttar Pradesh में 'बुआ-भतीजे' की जोड़ी ताल ठोंक रही हैं। पिछले दिनों हुए Uttar Pradesh के उप-चुनावों में केंद्र और राज्य में सत्तारूढ़ बीजेपी को पटखनी देने वाली SP - BSP में गठबंधन के बाद सीटों का बंटवारा भी हो चुका हैं। लेकिन अब चुनाव की दहलीज पर खड़ी बसपा सुप्रीमो Mayawati के लिए Samajwadi Party के मुखिया Akhilesh Yadav द्वारा उठाया गया एक मुद्दा ही 'गले की हड्डी' बनता दिखाई दे रहा हैं।

यह मामला Mayawati  के mukhyamantri रहते बने पार्को और स्मारकों में कथित भ्रष्टाचार से जुड़ा हैं। और एक बार फिर चर्चा में हैं। हाल ही में सुुप्रीम court ने इन पार्कों व स्मारकों में लगी Mayawati और बसपा के चुनाव चिन्ह हाथी की प्रतिमाओं को लेकर गंभीर टिप्पणी की और कहा कि इन मूर्तियों पर खर्च हुई धनराशि को Mayawati (BSP Chief Mayawati) को सरकारी खजाने में जमा करना चाहिए.

Akhilesh Yadav का ये कदम बना Mayawati के गले की हड्डी

Akhilesh Yadav का ये कदम बना Mayawati के गले की हड्डी

आपको बता दें कि Lok Sabha चुनाव में एक ही कश्ती पर सवार सपा मुखिया Akhilesh Yadav खुद बसपा के कार्यकाल में बनी इन प्रतिमाओं को लेकर सवाल उठाते रहे हैं। Uttar Pradesh की गद्दी संभालने के बाद Akhilesh Yadav ने ही Mayawati के कार्यकाल में बने पार्कों और स्मारकों की Lokayukta से जांच का आदेश दिया था. Lokayukta की जांच में Lucknow और नोएडा में बने पार्कों और स्मारकों में 1,400 करोड़ रुपये से ज्यादा के घोटाले का अनुमान लगाया गया था. यही नहीं, Lokayukta की सिफारिश पर Akhilesh Yadav की सरकार ने पूर्ववर्ती Mayawati सरकार के दो मंत्रियों नसीमुद्दीन सिद्दीकी और बाबूसिंह कुशवाहा समेत 19 लोगों के ख़िलाफ़ मुकदमा भी दर्ज करवाया था. अब सुप्रीम court की टिप्पणी के बाद एक बार फिर यह मामला गरमा गया हैं।

चुनाव से पहले आर्थिक संकट में Mayawati:

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक चार बार Uttar Pradesh की mukhyamantri रहीं Mayawati ने अपनी प्रतिमाओं पर 3.49 करोड़ रुपये, अपने राजनीतिक गुरु कांशीराम की प्रतिमाओं पर 3.77 करोड़ रुपये और अपनी पार्टी के चुनाव चिन्ह हाथी की मूर्तियों पर 52.02 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। यानी सभी प्रतिमाओं पर 59 करोड़ रुपये खर्च हुए. अब सुप्रीम court की टिप्पणी के बाद बसपा प्रमुख आर्थिक संकट में फंसती दिखाई दे रही हैं। हालांकि Mayawati का कहना हैं। कि वह इस मामले में सुप्रीम court में अपना पक्ष मजबूती के साथ रखेंगी. उन्होंने कहा कि हमें पूरा भरोसा हैं। कि इस मामले में भी nyayalaya से पूरा इंसाफ मिलेगा. आपको बता दें कि Lucknow स्थित अंबेडकर पार्क में हाथियों की 152 मूर्तियां हैं। जबकि नोएडा के पार्क में 56 मूर्तियां लगी हैं।
Previous Post
Next Post

Indian politics News, Samajwadi Party News, Political News, and More Akhilesh Yadav Speech Today, Akhilesh Yadav Video, Akhilesh Yadav Song, Akhilesh Yadav Contact Number, Akhilesh Yadav News 2019, Akhilesh Yadav Wife, Akhilesh Yadav Family, Dimple Yadav News visit website https://akhileshyadavnews.xyz

0 comments: